150 किलोग्राम वजन का 23 वर्षीय युवक बन गया फर्जी इंस्पेक्टर 

150 किलोग्राम वजन का 23 वर्षीय युवक बन गया फर्जी इंस्पेक्टर 

खाकी वर्दी पहनकर और थ्री स्टार लगाकर गाड़ियों से करता था अवैध वसूलता

फिरोजाबाद। यूपी के फिरोजाबाद से एक फर्जी इंस्पेक्टर असली पुलिस के हत्थे चढ़ गया। 23 साल का एक युवक खाकी वर्दी पहनकर और थ्री स्टार लगाकर गाड़ियों से रुपए वसूलता था। खास बात यह है कि आरोपी के शरीर ने ही उसका राज खोल दिया। करीब 150 किलोग्राम वजन के युवक की बड़ी आकार की तोंद लटकी हुई है। आलम यह है कि पैंट की जिप तक सही से बंद नहीं हो पाती है। पुलिस ने इन दरोगा जी को गिरफ्तार कर लिया है।

फिरोजाबाद पुलिस के पास बीते कुछ दिनों से एक मोटे पुलिसवाले की तरफ से वसूली किए जाने की सूचना आ रही थी। बताया जा रहा था कि ताज एक्सप्रेस-वे से उतरते ही फिरोजाबाद जिले में नेशनल हाइवे पर एक इंस्पेक्टर रौब दिखाकर प्राइवेट बस और ट्रक ड्राइवर्स से वसूली किया करता था। जांच अभियान के दौरान राजा के ताल चौकी के पास वैगनआर कार में बैठा आरोपी मिल गया।
ये भी पढ़ें : बहराइच: फर्जी सिपाही बन ठगी और वसूली करने वाले चार गिरफ्तार, पुलिस ने भेजा जेल।

टूंडला पुलिस ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर कई वाहनों से अवैध वसूली करने की जानकारी मिली, जिसके बाद शख्स को अवैध वसूली करते हुए रंगेहाथों पकड़ा गया और गिरफ्तार कर लिया गया। वह फर्जी इंस्पेक्टर बनकर नेशनल हाईवे से निकलने वाले वाहनों को डरा धमका कर जब्त करने की धमकी दे कर उनसे अवैध वसूली कर रहा था। वह टोल टैक्स बचाने के लिए भी पुलिस की वर्दी का इस्तेमाल करता था।
आरोपी मुकेश यादव पुत्र रामकिशन यादव गाजियाबाद के मकान नंबर-320 कड़कड़ मॉडल, साहिबाबाद थाना लिंक गेट का रहने वाला है। आरोपी के पास से दो आधार कार्ड, दो पैन कार्ड, पुलिस की वर्दी, फर्जी आईकार्ड, एटीएम आदि कागजातों के अलावा एक वैगनआर कार भी बरामद की गई है, जिस पर पुलिस का बड़ा सा स्टीकर लगाकर चलता था। इस दौरान उसके दो साथी भी होते थे, जिनके साथ मिलकर वह चेकिंग के नाम पर अवैध वसूली किया करता था। पुलिस ने आरोपी से पुलिस का फर्जी आईकार्ड, वर्दी, आधार कार्ड, मोबाइल फोन और 2200 रुपये नगद बरामद किए।

इस मामले में टूंडला के पुलिस क्षेत्राधिकारी (CO) हरिमोहन सिंह ने बताया कि आरोपी से पूछताछ की जा रही है। साथ ही यह जानने की कोशिश की जा रही है कि क्या इसके गैंग में और भी लोग शामिल हो सकते हैं। आरोपी के खिलाफ टूंडला थाने में धारा 170, 171, 420, 467, 468, 469, 471 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। वहीं, आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। हालांकि, पकड़े गए फर्जी इंस्पेक्टर मुकेश यादव का कहना है कि वह टोल बचाने के लिए पुलिस की वर्दी का इस्तेमाल किया करता था।