16 साल पुरानी सड़क निर्माण की मांग फिर हुई बुलंद

16 साल पुरानी सड़क निर्माण की मांग फिर हुई बुलंद

जन आंदोलन संगठन ने पूर्व मंत्री महेश शर्मा को सौंपा ज्ञापन

ग्रेटर नोएडा वेस्ट। क्षेत्रीय विकास के सपने को साकार करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए, जन आंदोलन सामाजिक संगठन ने मंगलवार को पूर्व केन्द्रीय मंत्री और गौतम बुद्ध नगर के सांसद डॉ. महेश शर्मा को ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन में ग्रेटर नोएडा वेस्ट 130 मीटर रोड से होते हुए बादलपुर, दुजाना, महावड़ और कल्दा गांव को जोड़ने वाले संपर्क मार्ग के निर्माण की लंबे समय से लंबित मांग को पूरा करने की गुहार लगाई गई है।

दादरी और आसपास के गांवों के निवासियों ने पिछले 16 वर्षों से ग्रेटर नोएडा वेस्ट से होकर ईस्टर्न पेरिफेरल हाइवे तक सड़क मार्ग के निर्माण की मांग की है। सामाजिक संगठन, किसान संगठन और जन आंदोलन संगठन ने इस मांग को अनेकों बार विभिन्न मंचों पर उठाया है, लेकिन आज तक यह मुद्दा अधूरा ही रहा है। 

जन आंदोलन संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमवीर सिंह आर्य एडवोकेट ने कहा, यह सड़क मार्ग न केवल हमारे गांवों को जोड़ने के लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि इससे पूरे क्षेत्र का विकास भी होगा। हम पिछले 16 सालों से इस मांग को उठा रहे हैं, और अब समय आ गया है कि इसे पूरा किया जाए। किसान नेता एवं सामाजिक कार्यकर्ता मनोज नागर ने बताया कि ज्ञापन में बताया गया कि सरकार ने 130 मीटर रोड से "गांव अच्छेता" तक 60 मीटर सड़क निर्माण की अधिसूचना जारी की है, लेकिन यह अधूरी है। क्षेत्रवासियों की मांग है कि यह सड़क मार्ग गांव कल्दा तक विस्तार किया जाए, जो ईस्टर्न पेरिफेरल हाइवे से जोड़ता है। काल्दा गांव में पहले से ही भूमि अधिग्रहण हो चुका है, जिससे इस मार्ग का निर्माण संभावित है। 

प्रधान सुशील नागर ने इस बात पर जोर दिया गया है कि अगर यह मार्ग बन जाता है, तो यह दादरी क्षेत्र के समग्र विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह न केवल आवागमन को सुगम बनाएगा बल्कि आर्थिक गतिविधियों को भी बढ़ावा देगा।

ज्ञापन प्राप्त करने के बाद, डॉ. महेश शर्मा ने क्षेत्रवासियों को भरोसा दिलाया कि वे इस महत्वपूर्ण सड़क निर्माण के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएंगे। उन्होंने कहा, "यह मार्ग हमारे क्षेत्र के लिए चहुंमुखी विकास साबित होगा। अगर यह मार्ग बनता है तो मेरा सांसद क्षेत्र एक नई चमक प्राप्त करेगा और दादरी का विकास तेजी से आगे बढ़ेगा। मैं इस सड़क के निर्माण के लिए हर संभव प्रयास करूंगा।"
महेश शर्मा ने क्षेत्रवासियों को आश्वस्त किया कि वह इस मांग को सरकार और अथोरिटी के समक्ष मजबूती से रखेंगे और इस परियोजना को प्राथमिकता देंगे। 

ज्ञापन सौंपने के दौरान, जन आंदोलन संगठन के साथ-साथ क्षेत्र के कई सामाजिक और राजनीतिक संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे। सभी ने एक स्वर में इस मांग का समर्थन किया और इसे क्षेत्र के विकास के लिए अनिवार्य बताया।

भाजपा जिला अध्यक्ष (युवा) राज नागर ने कहा कि, हम इस सड़क के निर्माण के बिना क्षेत्र के विकास की कल्पना नहीं कर सकते। यह सड़क न केवल हमारे गांवों को जोड़ने का साधन है, बल्कि यह हमारे बच्चों के भविष्य और हमारी आजीविका के लिए भी आवश्यक है। सामाजिक कार्यकर्ता आलोक नागर ने

इस ज्ञापन से स्पष्ट है कि क्षेत्र के लोग अपने अधिकारों और विकास के लिए संगठित होकर लड़ने के लिए तैयार हैं। अब देखना यह है कि सरकार और सांसद महेश शर्मा इस मांग को कितनी जल्दी और प्रभावी ढंग से पूरा कर पाते हैं।

ज्ञापन सौंपने में ओमवीर सिंह आर्य एडवोकेट राष्ट्रीय अध्यक्ष जन आंदोलन, वरिष्ठ समाजसेवी और किसान नेता मास्टर मनोज नागर, सुशील प्रधान किसान नेता, विनोद अधाना, मा.विनोद नागर चैयरमैन आफिसर्स इण्टर नैशनल विधालय, अशोक भाटी जिला अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन,राज नागर युवा जिला अध्यक्ष, आलोक नागर संस्थापक सदस्य करप्शन फ्री इंडिया, रमेश बंसल, अजय भाटी, परमेंद्र चैची एडवोकेट, संजीव चैची एडवोकेट, सोमेश ठाकुर राष्ट्रीय अध्यक्ष भारतीय किसान युवा सेवा संगठन, यशपाल नागर, रवि बीडीसी राजेंद्र नागर, सतबीर गुर्जर, अरुण नागर आदि सेंकड़ों सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।