ICMEI अपना समर्थन देगी G-20 की सांस्कृतिक गतिविधियों को

ICMEI अपना समर्थन देगी G-20 की सांस्कृतिक गतिविधियों को

नई दिल्ली: आईसीएमईआई के अध्यक्ष और एएएफटी विश्वविद्यालय के चांसलर संदीप मारवाह ने कहा की "हम गर्व महसूस कर रहे हैं और नई ऊर्जा से ओत-प्रोत हैं क्योंकि भारत वर्ष 2023 के लिए जी-20 का अध्यक्ष देश है और भारत के माननीय प्रधानमंत्री जी-20 की अध्यक्षता करेंगे। हम पहले ही कई देशों के साथ हाथ मिला चुके हैं जो कला और संस्कृति के माध्यम से संबंधों को विकसित करने और बढ़ावा देने के लिए जी 20 का हिस्सा हैं ”

आईसीएमईआई की गतिविधियों को अपना समर्थन देने का वादा के लिए विभिन्न संगठनों के गणमान्य व्यक्तियों द्वारा इंटरनेशनल चैंबर ऑफ मीडिया एंड एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के वैश्विक कार्यालय में एक पोस्टर लॉन्च किया गया। भारत के G-20 प्रेसीडेंसी का विषय वसुधैव कुटुम्बकम- एक पृथ्वी एक परिवार एक भविष्य है।
इस अवसर पर क्यूबा गणराज्य के व्यापार आयुक्त डॉ. मूर्ति देवरभूता, और नामीबिया के व्यापार आयुक्त तसनीम शरीफ़, प्रेरक वक्ता डॉ. राइमा श्रीनिवास, शास्त्रीय नृत्यांगना डॉ. डी.वी. रमना ने आईसीएमईआई के प्रयासों की सराहना की।

G-20 के सदस्य हैं - अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यू. यू.एस., साथ ही साथ यूरोपीय संघ, जिसका प्रतिनिधित्व रोटेटिंग काउंसिल प्रेसीडेंसी और यूरोपीय सेंट्रल बैंक द्वारा किया जाता है। इस आयोजन को एशियन यूनिटी एलायंस और वर्ल्ड पीस डेवलपमेंट एंड रिसर्च फाउंडेशन का समर्थन प्राप्त था।