नारी शक्ति राष्ट्र वंदन यज्ञ से होगा प्रेरणा विमर्श-2023 का शुभारंभ

नारी शक्ति राष्ट्र वंदन यज्ञ से होगा प्रेरणा विमर्श-2023 का शुभारंभ

ग्रेटर नोएडा। प्रेरणा विमर्श-2023 का आयोजन 15,16 और 17 दिसंबर को गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में होगा। विमर्श का आगाज 15 दिसंबर को प्रातः 10 बजे नारी शक्ति राष्ट्र वंदन यज्ञ के साथ होगा। इस यज्ञ में लगभग 650 माताएं एवं बहनें एक साथ आहुति देंगी। यह अपने आप में एक अनूठी पहल होगी। विमर्श का आयोजन प्रेरणा शोध संस्‍थान न्‍यास-नोएडा, मेरठ प्रांत प्रचार विभाग एवं गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के जनसंचार व मीडिया अध्ययन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। ‘स्‍व’ भारत का आत्मबोध विषय पर आयोजित इस तीन दिवसीय विमर्श में देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति, वरिष्ठ लेखक, प्रख्यात फिल्मकार, सोशल मीडिया के विशेषज्ञ एवं वरिष्ठ पत्रकार चिंतन एवं मंथन करेंगे।

प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकार बंधुओं को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के प्रचार प्रमुख श्री कृपाशंकर जी ने “स्व” भारत का आत्मबोध- प्रेरणा विमर्श 2023 के कार्यक्रम की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति को विमर्श के केंद्र में लाने वाला “प्रेरणा विमर्श-2023” नए कीर्तिमान गढ़ने जा रहा है। आप सभी इस महोत्सव का हिस्सा बनें और अपनी चेतना को भारतीय संस्कृति के प्रवाह से जोड़ें।

राष्ट्र निर्माण में सहभागी बने तथा कला, पत्रकारिता, साहित्य और सिनेमा के राष्ट्रवादी संगम के साक्षी बनें। वार्ता के दौरान प्रेरणा विमर्श-2023 की सहसचिव श्रीमती मोनिका चौहान जी ने बताया कि नारी शक्ति राष्ट्र वंदन यज्ञ की आहुतियों में पूर्ण रूप से माताएं एवं बहनों की हिस्सेदारी रहेगी। उन्होंने कहा कि इस यज्ञ के आयोजन से भारत वर्ष  के प्रत्येक व्यक्ति को संदेश देना है कि राष्ट्र निर्माण में नारी शक्ति की सर्वोपरि भूमिका है।

प्रेरणा विमर्श के संयोजक प्रोफेसर विशेष गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम के प्रथम दिवस यानी 15 दिसंबर को समारोह के उद्घाटन अवसर पर लगने वाली प्रदर्शनी का अनावरण दिल्ली सांसद मनोज तिवारी जी, उत्तराखंड विधानसभा की अध्‍यक्ष रितु खंडूरी जी और आरएसएस के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख रामलाल जी करेंगे। वहीं प्रेरणा विमर्श 2023 के समापन समारोह में प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक माननीय जे. नंदकुमार जी अपनी उपस्थित से कार्यक्रम का गौरव बढ़ाएंगे।

आज के प्रेसवार्ता में प्रेरणा विमर्श -2023 के सचिव गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार श्री विश्वास त्रिपाठी ने बताया कि इस तीन दिवसीय अनुष्ठान में अलग-अलग आयामों में समानांतर सत्रों में पत्रकार, मीडिया शिक्षक, विद्यार्थी, लेखक, सोशल मीडिया में सक्रिय लोग विषय विशेषज्ञों के साथ विमर्श कर अमृत मंथन करेंगे। विमर्श के किसी भी आयाम में हिस्सा लेने के लिए पंजीकरण अनिवार्य है। पंजीकृत प्रतिभागी ही विमर्श में भाग ले सकेंगे। अब तक लगभग एक हजार से अधिक लोगों ने अलग-अलग आयामों में पंजीकरण किया है।

इस अवसर पर ‘स्‍व’ भारत का आत्मबोध विषय पर एक प्रदर्शनी लगाई जा रही है जो भारतीय ज्ञान परंपरा को परिलक्षित करेगी। इस दौरान होने वाले साहित्‍योत्‍सव में पुस्‍तकें और साहित्य बिक्री के लिए उपलब्‍ध रहेंगी। साथ ही लेखक अग्रिम पंजीकरण कर अपनी प्रकाशित पुस्तकों का लोकार्पण भी कर सकेंगे।

आयोजन समिति ने बताया कि इस अवसर पर प्रेरणा चित्र भारती लघु फिल्‍मोत्‍सव का आयोजन किया जा रहा है। अब तक लगभग 250 फिल्‍मों का पंजीकरण हुआ है। विमर्श के दौरान चयनित फिल्‍मों का न केवल प्रदर्शन किया जाएगा बल्कि प्रतिभागियों को प्रख्यात फिल्‍मकारों के साथ सीधा संवाद करने का सुअवसर भी मिलेगा। उत्‍कृष्‍ट फिल्‍मों को नकद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि विमर्श में हर वर्ष की भांति पत्रकार प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।

इस प्रतियोगिता में विभिन्न मीडिया संस्थानों के पत्रकार बंधु, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में अध्‍ययनरत मीडिया के छात्र एवं छात्राएं भाग ले रहे हैं। प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ रहने वाले विद्यार्थियों को नकद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। आज की वार्ता के दौरान संसद टीवी के संपादक श्याम किशोर एवं विमर्श के व्यवस्था समन्वयक मनमोहन सिसोदिया के साथ आयोजन समिति के विशिष्ट गणमान्य  लोग भी उपस्थित रहे।