हिंदी विश्‍वविद्यालय ने मनाया अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस

हिंदी विश्‍वविद्यालय ने मनाया अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस

वर्धा : आठवें अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस पर महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल ने कहा कि देह, चित्‍त और आत्‍मा का स्‍वास्‍थ्‍य ही योग है। विश्‍वविद्यालय में ‘मानवता के लिए योग’ इस सूत्रवाक्‍य पर बडे़ उत्‍साह के साथ योग दिवस मनाया गया।  इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्‍यक्षता करते हुए प्रो. शुक्‍ल संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि  भारत सरकार की ओर से आज़ादी के अमृत महोत्‍सव पर देश के प्रतिष्ठित 75 संस्‍थानों, विश्‍वविद्यालयों को अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए चयनित गया। इस दृष्टि से इस वर्ष का योग दिवस विश्‍वविद्यालय के लिए गौरव का विषय है। कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि के रूप में लंदन से पधारी चंद्रमौलि चैरीटेबल ट्रस्‍ट, वाराणसी की अध्‍यक्ष और प्रख्‍यात संस्‍कृत साधिका डॉ. लूसी गेस्‍ट एवं विद्यार्थी प्रतिनिधि आबिद रज़ा और खुशबु उपस्थित थी। इस अवसर पर योग विशेषज्ञ योगिक विज्ञान, योग संस्‍कार संस्‍थान, नागपुर के मुकुल गुरु ने आयुष मंत्रालय से प्राप्‍त दिशा-निर्देशों के अनुसार विभिन्‍न प्रकार के प्राणायाम एवं योगाभ्‍यास कराया। भारत सरकार की ओर से योग दिवस का मुख्‍य कार्यक्रम मैसूर पैलेस, कर्नाटक में आयोजित किया गया जिसके सीधे प्रसारण को देखने की व्‍यवस्‍था विश्‍वविद्यालय के अटल बिहारी वाजपेयी भवन में की गई थी। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया।
विश्‍वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम के प्रारंभ में कुलपति प्रो. रजनीश कुमार शुक्‍ल ने डॉ. लूसी गेस्‍ट और मुकुल गुरु का स्‍वागत शॉल, सूतमाला एवं स्‍मृति चिन्‍ह प्रदान कर किया। कार्यक्रम का समापन राष्‍ट्रगान के साथ किया गया। कायर्क्रम का संचालन सहायक प्रोफेसर डॉ. सीमा बर्गट ने किया। कार्यक्रम में प्रतिकुलपति द्वय प्रो. हनुमानप्रसाद शुक्ल और प्रो. चंद्रकांत रागीट, कुलसचिव कादर नवाज खान सहित विश्‍वविद्यालय के शिक्षक, अधिकारी, शोधार्थी एवं विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।