विद्यामंदिर क्लासेज ने मिलाए ईटीएस से हाथ, पूरा होगा विदेश जाकर पढ़ने का छात्रों का सपना

विद्यामंदिर क्लासेज ने मिलाए ईटीएस से हाथ, पूरा होगा विदेश जाकर पढ़ने का छात्रों का सपना

नोएडा। इंजीनियरिंग और मेडिकल फील्ड की कोचिंग में प्रतिष्ठित नाम विद्यामंदिर क्लासेज (वीएमसी) ने एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विस (ईटीएस) के साथ मिलकर एक नई पहल की है. जीआरई और टीओईएफएल जैसी परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले संस्थानों में ईटीएस का नाम दुनिया में शुमार किया जाता है.

इस पहल का मकसद उन भारतीयों छात्रों के सपनों का पूरा करना है  जो विदेशों में जाकर पढ़ाई करना चाहते हैं. इस साझेदारी से बच्चों को जीआरई और टीओईएफएल जैसे एग्जाम पास करने की स्किल्स सिखाई जाएंगी.

भारतीय छात्रों में विदेश जाकर पढ़ाई करनी की रूचि काफी बढ़ रही है जिसे देखते हुए ही विद्यामंदिर क्लासेज ने जेईई और नीट की तैयारी से आगे बढ़ते हुए ये कदम उठाया है. ईटीएस के साथ मिलकर वीएमसी का उद्देश्य भारतीय छात्रों को जीआरई (ग्रेजुएट रिकॉर्ड एग्जामिनेशन) और टीओईएफएल (टेस्ट ऑफ इंग्लिश फॉरेन लैंग्वेज) जैसे एग्जाम के लिए तैयार करना है ताकि वो इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी में एडमिशन पा सकें.

इस पार्टनरशिप के होने से विद्यामंदिर क्लासेज की विशेषज्ञता और ईटीएस के विश्वसनीय आकलन का छात्रों को लाभ मिलेगा. ईटीएस के साथ पार्टनरशिप के जरिए वीएमसी एक ऐसे सेंटर के रूप में सेवाएं देगा, जो जीआरई और टीओईएफएल में बैठने वाले छात्रों की सफलता सुनिश्चित कर सके.

*विद्यामंदिर क्लासेज के चीफ अकेडमिक ऑफिसर सौरभ कुमार ने इस पहल के बारे में बताया,* ‘'विदेशों में जाकर पढ़ने की इच्छा रखने वाले छात्रों के सपनों को पूरा करने से शुरू की जा रही ईटीएस के साथ ये पहल काफी उत्साहजनक है. हमारी ये पहल छात्रों को उनके हर तरह के ख्वाब पूरा करने में गाइड करने की प्रतिबद्धता को दर्शाती है. जीआरई और टीओईएफएल ऐसे एग्जाम हैं जो विदेश जाकर पढ़ाई करने के लिए छात्रों के एंट्री पास के रूप में काम करते हैं, लिहाजा ईटीएस के साथ इस पार्टनरशिप के जरिए हम भारतीय छात्रों के सपनों को नई उड़ान देने के लिए उत्साहित हैं.''

देश के बड़े एग्जाम जैसे जेईई और नीट में अपना परचम बुलंद करने वाले वीएमसी ने ईटीएस के साथ हाथ मिलाया है जो अपनी एक्सपर्टीज के लिए ग्लोबल पहचान रखता है. जो छात्र वीएमसी के जीआरई और टीओईएफएल प्रोग्राम की कोचिंग लेंगे, उन्हें न सिर्फ एग्जाम का कंटेंट पढ़ाया जाएगा बल्कि टाइम मैनेजमेंट टेक्निक, इफेक्टिव स्ट्रैटेजी और प्रैक्टिस रिसोर्स से भी मजबूत किया जाएगा. इसके अलावा, वीएमसी अपने अनुभवी फैकल्टी की मदद छात्रों को गाइड करेगा और उनकी मदद करेगा ताकि वो जीआरई और टीओईएफएल एग्जाम देते वक्त कॉन्फिडेंट रहें. इसके अलावा छात्रों की प्रैक्टिस के लिए वीएमसी वर्कशॉप, सेमिनार और मॉक टेस्ट भी कराएगा. वीएमसी और ईटीएस की ये पार्टनरशिप टेस्ट तैयारी के क्षेत्र में एक मील का पत्थर साबित होने वाली है. इस पार्टनरशिप के जरिए वीएमसी उन छात्रों के सपनों का पूरा करने का काम करेगा, जो उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाना चाहते हैं और नए अवसर तलाशना चाहते हैं.

विद्यामंदिर क्लासेज ने मिलाए ईटीएस से हाथ, पूरा होगा विदेश जाकर पढ़ने का छात्रों का सपना