रिटायर हुए एसीएस गृह अवनीश अवस्थी, यूपीडा समेत उनके सभी विभागों का चार्ज प्रमुख सचिव संजय प्रसाद को

रिटायर हुए एसीएस गृह अवनीश अवस्थी, यूपीडा समेत उनके सभी विभागों का चार्ज प्रमुख सचिव संजय प्रसाद को

लखनऊ  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सबसे भरोसेमंद माने जाने वाले अधिकारी उत्तर प्रदेश के अपर मुख्यसचिव गृह अवनीश अवस्थी अगस्त को यानी बुधवार को रिटायर हो रहे हैं। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव संजयप्रसाद को गृह विभाग का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। अवनीश अवस्थी के एक्सटेंशन को लेकर काफीदिनों से चर्चा चल रही थी। हालांकि, यूपी सरकार की ओर से एक्सटेंशन को लेकर केंद्र को भेजे गए लेटर काजवाब अभी तक नहीं आया है। सीएम योगी आदित्यनाथ की बेहद करीबी अवनीश अवस्थी के सेवा विस्तारकी उम्मीदें अब खत्म हो गई हैं। भारतीय प्रशासनिक सेवा के वर्ष 1987 बैच के अधिकारी अवनीश अवस्थीको 31 जुलाई, 2019 को गृह विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। मौजूदा समय में उनके पास यूपीडा केसीईओ के साथ-साथ ऊर्जा विभाग का भी पदभार है अवस्थी के पास गृह के अलावा गोपन, वीजा-पासपोर्ट, जेल प्रशासन एवं सुधार, सतर्कता विभाग, धर्मार्थ कार्य विभाग की जिम्मेदारी थी। वह यूपीडा उप्र. स्टेटहाईवेज अथॉरिटी (उपशा) के सीईओ और डीजी जेल भी थे। संजय ने देर शाम गृह विभाग का कार्यभारसंभाल लिया और अधिकारियों के साथ बैठक भी की। अपर मुख्य सचिव, गृह के पद से बुधवार कोसेवानिवृत्त हुए अवनीश अवस्थी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफी भरोसेमंद और सबसे पावरफुलब्यूरोक्रेट रहे हैं। अवस्थी 1984 के बाद सबसे लंबे समय  तीन वर्ष एक माह तक गृह विभाग का मुखिया रहनेका रिकॉर्ड बना गए। उनका कार्यकाल एक अगस्त, 2019 से 31 अगस्त, 2022 तक रहा। इससे पहलेआरसी टकरू का कार्यकाल नवंबर 1980 से मार्च 1984 तक का था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करीबी अफसरों में शुमार अवनीश अवस्थी शुरुआत में ही अपर मुख्य सचिवसूचना पर्यटन के साथ-साथ यूपीडा के सीईओ भी बनाए गए थे। वर्ष 2017 में प्रदेश में योगी आदित्यनाथकी सरकार बनने के बाद उन्हें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस बुलाया गया था। योगी सरकार में गृह और यूपीडासे संबंधित अपने कार्यों की बदौलत सबसे ज्यादा चर्चा में रहे अवनीश अवस्थी को सेवा विस्तार मिलने कीअटकलें भी लगाई जाती रही हैं। हालांकि अभी तक इस बारे में कोई फैसला हो पाने से इन अटकलों कोखारिज भी किया जाने लगा है। अपर मुख्य सचिव गृह के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान वह प्रदेश मेंपुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू किए जाने समेत कई बड़े फैसलों के सूत्रधार बने। उनके कार्यकाल मेंउपद्रवियों से वसूली का कानून बना तो पुलिस सुधारों से संबंधित कई कार्य भी हुए। इसी तरह उनकेकार्यकाल में यूपीडा ने प्रदेश में दो नए एक्सप्रेस-वे बनाए। आईएएस अधिकारी अवनीश अवस्थी का जन्म19 अगस्त, 1962 में हुआ था। उन्होंने 1985 में आईआईटी कानपुर से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में पढ़ाईकी। स्नातक के बाद 1987 में सिविल सेवा परीक्षा पास किया। यूपी कैडर के आईएएस अधिकारी बनने केबाद अवनीश कुमार अवस्थी ललितपुर, बदायूं , आजमगढ़, वाराणसी, फैजाबाद, मेरठ और गोरखपुर केजिलाधिकारी सहित कई भूमिकाओं में काम किया।

अवस्थी के सेवानिवृत्त के बाद उनके सम्मान में पुलिस विभाग की ओर से भी विदाई सम्मान समारोह काअयोजन किया। लखनऊ के सप्रू मार्ग स्थित पुलिस ऑफिसर्स मेस में अवस्थी के सम्मान में कार्यवाहकडीजीपी देवेंद्र सिंह चौहान की ओर से यह आयोजन किया गया। इसमें लखनऊ में नियुक्त एसपी से लेकरएडीजी स्तर तक के अधिकारियों को आमंत्रित किया गया।

स्थायी मुखिया की घोषणा जल्द

प्रदेश के गृह विभाग का अगला मुखिया कौन होगा, इसे लेकर शासन स्तर पर मंथन शुरू हो गया है। जल्द हीनया नाम तय कर स्थायी मुखिया की तैनाती की जाएगी। संजय प्रसाद जिन्हें गृह विभाग का अतिरिक्त चार्जदिया गया है, उन्हें भी स्थायी किया जा सकता है। क्योंकि 2019 के शुरू में तत्कालीन प्रमुख सचिव अरविंदकुमार लंबी छुट्टी पर गए थे। उस समय सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को अतिरिक्तचार्ज दिया गया था। बाद में अरविंद कुमार को जब गृह विभाग से हटाया गया तो अवस्थी को ही स्थायीअपर मुख्य सचिव बना दिया गया।