काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

ज्ञानपुर ,भदोही: काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विभूति नारायण राजकीय इंटर कॉलेज ज्ञानपुर ,भदोही में जिला स्तरीय योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राचार्य, प्राध्यापक गण ,कर्मचारी गण एवं छात्र छात्राओं ने पतंजलि योगपीठ के राज्य प्रभारी संदेश योगी के नेतृत्व में योगाभ्यास किया । तत्पश्चात एक ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन किया गया । वेबीनार के मुख्य वक्ता पारली बैजनाथ महाविद्यालय ,संस्कृत विभाग के अध्यक्ष डॉ नयन कुमार आचार्य रहे । उन्होंने बताया आज भागदौड़ भरी जिंदगी में सामाजिक और व्यक्तिगत जीवन संकुचित होता जा रहा है। टूटते रिश्तो को जोड़ने का कार्य योग बखूबी करता है। उन्होंने महर्षि पतंजलि द्वारा बताये गए अष्टांगिक योग मार्ग-  यम ,नियम, स्वाध्याय, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार ,ध्यान और समाधि के विषय में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया योग ना सिर्फ अभ्यास का नाम है बल्कि यह संयम से समाधि तक पहुंचने की यात्रा है। जिसमें सभी चित्त वृत्तियों का निरोध कर ,व्यक्ति स्माधिस्थ  होकर जीवन के परम लक्ष्य ईश्वर को प्राप्त कर लेता है। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ पी एन डोंगरे ने अध्यक्षीय उद्बोधन में बताया कि योग से जीवन में जोश और उत्साह आता है। कार्यक्रम की संयोजिका डॉ कामिनी वर्मा ने बताया की विश्व को योग विज्ञान भारत ने दिया है। भारत की सबसे प्राचीन संस्कृति, जो सिंधु सभ्यता के नाम से जानी जाती है वहां भी योग के साक्ष्य मिलते हैं इसके बाद वेद ,भगवत गीता, महर्षि पतंजलि के अष्टांगसूत्र में इसका व्यापक रूप से उल्लेख हुआ है। कार्यक्रम की सह संयोजिका डॉ मोनिका ने धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कहां जटिलताओं भरे जीवन में आज जब चारों तरफ अशांति का वातावरण है नाना प्रकार की शारीरिक मानसिक बीमारियों से जीवन ग्रसित है ऐसे में योग का नियमित अभ्यास तन और मन दोनों को स्वस्थ रखने में सहायक है। कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ घनश्याम मिश्रा, डा संतोष आर्य डा सुधीर रंजन, महाराष्ट्र से डॉक्टर नरेंद्र शास्त्री, डॉक्टर नलिनी देशपांडे ,डॉ रामेश्वर  जाते शामिल रहे। सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।