विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों एफपीआई ने जनवरी में अब तक भारतीय बाजारों में इस तरह उनका शुद्ध निवेश

नई दिल्ली । जनवरी, 2021 में भी एफपीआई शुद्ध निवेशक रहे हैं। एफपीआई ने जनवरी महीने में भारतीय बाजारों में शुद्ध रूप से 14,649 करोड़ रुपये का निवेश किया है। वैश्विक स्तर पर तरलता की काफी अच्छी स्थिति के चलते एफपीआई उभरते बाजारों में पैसा लगा रहे हैं और भारत उनके आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

एक से 29 जनवरी के दौरान एफपीआई ने शेयरों में शुद्ध रूप से 19,473 करोड़ रुपये निवेश किए। इस अवधि के दौरान उन्होंने ऋण या बांड बाजार से 4,824 करोड़ रुपये की निकासी की। इस तरह उनका शुद्ध निवेश 14,649 करोड़ रुपये रहा।

मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक हिमांशु श्रीवास्तव ने बताया, ‘दुनियाभर के केंद्रीय बैंकों और सरकारों द्वारा कोरोना वायरस महामारी के बीच प्रोत्साहन पैकेज जारी किए गए हैं, इससे वैश्विक वित्तीय बाजारों में अतिरिक्त तरलता उपलब्ध हो गई है। यही कारण है कि विदेशी निवेशक भारी मात्रा में उभरते बाजारों में निवेश कर रहे हैं, जिसका फायदा भारत को भी मिल रहा है।’

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने बताया कि एक फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करने वाली हैं। बजट प्रस्तावों को लेकर अनिश्चितता के कारण एफपीआई अभी बाजार की दिशा को लेकर असमंजस में हैं। इस कारण पिछले कुछ दिन से वे बिकवाली कर रहे हैं। कुमार ने कहा कि नवंबर और दिसंबर महीने में उभरते बाजारों में भारत को एफपीआई से सबसे अधिक निवेश प्राप्त हुआ है।