पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना  पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध

पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना  पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध

पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना 
पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध


राज्य के अधिकारियों/कर्मचारियों,पेंशनर्स और उनके आश्रित परिजनों को मिलेगी यह सुविधा, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आबद्ध निजी चिकित्सालयों में करा सकेंगे इलाज

नोएडा, 3 नवम्बर 2022। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबीपीएमजेएवाई) की तर्ज पर अब उत्तर प्रदेश के राज्य के सरकारी सेवकों, सेवानिवृत्त सरकारी सेवकों तथा उनके आश्रित परिजनों को कैशलेस चिकित्सा सुविधा मिलेगी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना के तहत योजना से आबद्ध निजी चिकित्सालय में प्रतिवर्ष प्रति परिवार पांच लाख रुपये तक के मुफ्त उपचार की सुविधा मिलेगी। यह जानकारी आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबीपीएमजेएवाई) के नोडल अधिकारी एवं डिप्टी सीएमओ डा. अशोक कुमार ने दी।
डॉ. अशोक ने बताया यह योजना उत्तर प्रदेश सरकारी सेवक (चिकित्सा परिचर्या) नियमावली, यथा संशोधित 2021 में निहित नियमों के अधीन संचालित है। सात जनवरी 2022 में जारी शासनादेश में राज्य के सरकारी सेवकों, सेवानिवृत्त सरकारी सेवकों तथा उनके आश्रित परिजनों को कैशलेस चिकित्सा उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया- योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए हर पात्र लाभार्थी के पास पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा कार्ड (स्टेट हेल्थ कार्ड) होना अनिवार्य है। इसी कार्ड की सहायता से आबद्ध चिकित्सालयों में लाभार्थी की पहचान के उपरांत चिकित्सा सुविधा प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया जहां आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से आबद्ध निजी चिकित्सालय में प्रति वर्ष प्रति परिवार पांच लाख रुपये तक के मुफ्त उपचार की सुविधा है, वहीं योजना से आबद्ध सरकारी चिकित्सालयों में बिना किसी वित्तीय सीमा के कैशलेस चिकित्सा उपलब्ध होगी।

नोडल अधिकारी ने बताया योजना को अमली जामा पहनाने के लिए लक्षित लाभार्थियों का ऑनलाइन पंजीकरण किया जा रहा है। योजना के लिए स्टेट हेल्थ कार्ड (राज्य स्वास्थ्य कार्ड) बनाने का कार्य योजना के पोर्टल https://sects.up.gov.in/  पर चालू है। सभी सरकारी सेवकों, सेवानिवृत्त सरकारी सेवकों तथा उनके आश्रित परिजनों का प्रथक-प्रथक व्यक्तिगत नाम के साथ कार्ड होना जरूरी है। 
बीमारियों के लिए तय हैं पैकेज
आयुष्मान भारत योजना में बीमारियों के पैकेज तय हैं। इसके तहत अस्पताल उपचार की धनराशि काट सकेंगे। अभी हाल ही में किडनी व कार्नियल ट्रांसप्लांट जोड़ दिये गये हैं।
भुगतान साचीज करेगी
पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा कार्ड धारकों के लिए आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आबद्ध निजी चिकित्सालयों में कैशलेस उपचार की व्यवस्था होगी। इलाज की धनराशि का भुगतान स्टेट एजेंसी फॉर हेल्थ एंड इंटीग्रेटेड सर्विसेज (साचीज) करेगी। यह यह धनराशि आयुष्मान भारत योजना के तहत तय पैकेज के अनुसार अस्पताल को मिलेगी।