CM योगी तबादलों में हुई गड़बड़ियों पर हुए सख्त इन तीन विभागों में जांच के लिए बनाई कमेटी

CM योगी तबादलों में हुई गड़बड़ियों पर हुए सख्त इन तीन विभागों में जांच के लिए बनाई कमेटी

लखनऊ:- उत्तर प्रदेश में बीते दिनों बड़े पैमाने पर अफसरों के तबादले किए गए. इस दौरान तबादलों के बादकई तरह की शिकायतें आई, जिसको लेकर अब राजनीतिक बवाल मचा हुआ है. जिसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adiyanath) ने ट्रांसफर में हुई गड़बड़ियों की जांच के आदेश दिए थे. अब इस मामले में पीडब्ल्यूडी (PWD), स्वास्थ्य विभाग (Health Department) और पशुपालन विभाग में हुए ट्रांसफर में भ्रष्टाचार की जांच के लिए कमेटियों का गठन किया गया है.

यूपी में पीडब्ल्यूडी और स्वास्थ्य विभाग में हुए तबादलों पर अब एक्शन की तैयारी शुरू हो गई है. इसको लेकर दोनों ही विभागों में एक कमेटी बनाई गई है, जो ट्रांसफर में हुए भ्रष्टाचार के मामले की जांच करेगी. जो भी अधिकारी इस जांच में दोषी पाए जाएंगे, उन पर गाज  गिरना तैय माना जा रहा है. सीएम योगी ने मंगलवार को दो कमेटियों का गठन कर दिया है

जिन डाक्टरों के सेवानिवृत्त होने में दो साल से भी कम समय बचा है, उन्हें भी हटाकर दूसरी जगह भेज दिया गया। एक तो मृतक का भी तबादला कर दिया गया। स्थानांतरण नीति का खुलकर उल्लंघन किया गया।विभाग ने 30 जून को स्थानांतरण सूची जारी की थी। उसके बाद से ही डाक्टर लामबंद हो गए। 4जुलाई को पीएमएस संघ की शिकायत पर उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद को चिट्ठी लिखकर इस मामले में 4बिंदुओं पर स्पष्टीकरण मांगा। इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी गलती मानने को तैयार नहीं हुए।

दो-दो जगह कर दिए डाक्टरों के तबादले : पीएमएस में स्थानांतरण नीति का खुलकर उल्लंघन हुआ। सालभर पहले स्थानांतरित चिकित्सक भी हटा दिए गए। दांपत्य नीति का पालन भी नहीं किया गया और दिव्यांगों के भी स्थानांतरण किए गए। गंभीर रोगों से ग्रस्त डाक्टरों के भी स्थानांतरण हुए। कुछ डाक्टरों के दो-दो जिलों में तबादले कर दिए गए।

मृत अभियंता का भी कर दिया तबादला : यही हाल लोक निर्माण विभाग का भी रहा। विभाग के अवरअभियंता रहे घनश्याम दास का तीन साल पहले निधन हो चुका है लेकिन उनका तबादला झांसी कर दिया गया था। इटावा में राजकुमार नामक किसी अवर अभियंता की तैनाती होने के बावजूद राजकुमार का तबादला इटावा से ललितपुर कर दिया गया था।

कर्मचारी भी विरोध पर उतरे, करेंगे प्रदर्शन : स्वास्थ्य विभाग में डाक्टरों के साथ-साथ पैरामेडिकल कर्मचारियों ने भी गलत ढंग से किए गए स्थानांतरण का विरोध तेज कर दिया है। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि 14 जुलाई को स्वास्थ्य महा निदेशालय का घेराव कियाजाएगा।